मशहूर शायर ‘पवन कुमार’ होंगे अमर उजाला काव्य कैफ़े लाइव में अगले मेहमान

मशहूर शायर ‘पवन कुमार’ होंगे अमर उजाला काव्य कैफ़े लाइव में अगले मेहमान

अमर उजाला काव्य, काव्य कैफ़े लाइव के माध्यम से प्रतिदिन शाम 5 बजे आप के लिए कला और साहित्य के क्षेत्र के मशहूर कलाकारों को लेकर हाज़िर होता है। काव्य कैफ़े लाइव की इसी यात्रा में आज शाम 5 बजे दर्शकों से रू ब रू होंगे- पेशे से आईएएस और मिजाज़ से शायर पवन कुमार। पवन अमर उजाला, अमर उजाला काव्य के फेसबुक पेज व यू-ट्यूब चैनल से एक साथ लाइव के जरिए हम सब से जुड़ेंगे।

कन्हैया लाल प्रभाकर सम्मान, उप्र सरकार के मैथिली शरण गुप्त, ज़ीशान मक़बूल अवार्ड, उप्र सरकार के सुमित्रा नंदन पंत अवार्ड आदि से सम्मानित पवन कुमार भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी हैं। वे उ.प्र. शासन में विभिन्न विभागों के विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके हैं। साथ ही विभिन्न जनपदों में जिलाधिकारी के पद पर भी तैनात रहे हैं।

पवन अदबी लिहाज़ से उर्दू को क़रीने से अपनी शायरी में पिरोकर पेश करने के लिए मशहूर हैं। उनकी भाषा बेहद रोमांचित करने वाली है। वे अपनी शायरी में आपको कई सफ़र कराते हैं और जो एक बार ज़ेहन में उतर जाएं तो फिर मुश्किल ही निकलते हैं। 

उनकी लेखन में रुचि शुरुआत से ही रही है। उनके ग़ज़ल पर दो संग्रह ‘वाबस्ता’ और ‘आहटें’ (वाणी प्रकाशन) प्रकाशित हो चुके हैं। उन्होंने ‘दस्तक’ और ‘चराग़ पलकों पर’ का संकलन और संपादन भी किया है। साथ ही कई म्यूजिक एलबम में उनके गीत ग़ज़ल रिलीज हो चुके हैं। वे महत्वपूर्ण पत्र-पत्रिकाओं में भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन, गाँधी दर्शन और वैदेशिक संबंधों पर भी सतत लेखन करते रहे हैं।