Currently browsing: कतरन

रामराज्य की विस्तृत समीक्षा साहित्यिक पत्रिका अभिनव मीमांसा में प्रकाशित

ias

रामराज्य की विस्तृत समीक्षा साहित्यिक पत्रिका अभिनव मीमांसा में प्रकाशित

Read more

अपने लहजे और फ़िक्र-ओ- फ़न के लिए उर्दू अदब में हमेशा याद किए जाएंगे मुज़फ़्फर हनफ़ी साहब

ezgif.com-gif-maker

फ़र्क़ नहीं पड़ता हम दीवानों के घर में होने से वीरानी उमड़ी पड़ती है घर के कोने कोने से अपनी इस कम-ज़र्फ़ी का एहसास कहाँ ले जाऊँ […]

Read more

साहित्य और प्रशासन के इम्तिज़ाज की राह का मुसाफिर – पवन कुमार

pawan kumar ias

दोस्तो आज के सेशन की खास शख्सियत आईएएस मोहतरम पवन कुमार साहिब नाम सुनते ही अहसास हो जाता है कि पवन कुमार एक ऐसी लिटरेरी शख्सियत का […]

Read more

सुमिरो पवन कुमार

वो साल था 2013, उन दिनों मैं बतौर स्ट्रिंगर अमर उजाला चंदौसी में कार्यरत था। चंदौसी वही जगह है जहां से हिंदी के महान ग़ज़लकार दुष्यंत कुमार […]

Read more

बैठा नदी के पास यही सोचता रहा: पवन कुमार

बैठा नदी के पास यही सोचता रहाकैसे बुझाऊँ प्यास यही सोचता रहा शादाब वादियों में वो सूखा हुआ दरख़्तकितना था बेलिबास यही सोचता रहा कितने लगे हैं […]

Read more